Ambedkar udyog Uday Yojana । अंबेडकर उद्योग उदय योजना

Ambedkar udyog Uday Yojana । अंबेडकर उद्योग उदय योजना

Ambedkar udyog Uday Yojana : गुजरात राज्य सरकार ने गुजरात में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति से संबंधित सूक्ष्म लघु और मध्य उद्यम के उद्यमियों के लिए बाबा साहेब अंबेडकर उद्योग उदय योजना का शुरूआत किया है। भारत रत्न डॉक्टर बाबासाहेब आंबेडकर उद्योग उदय योजना SC/ST उद्यमियों को उनके उद्योगों की स्थापना विस्तार और आधुनिकरण के लिए पूंजी निवेश और सावधि ऋण पर सब्सिडी प्रदान करती है। यह मैप इन इंडिया पल के अंतर्गत स्टेट ऑफ इंडिया योजना का समर्थन करता है। यह औद्योगिक नीति 2015 के अनुरूप है जिसमें अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति उद्यमियों को विशेष स्थानीय सहायता के साथ राज्य में एमएएमई के विकास के लिए व्यापक रूप से सक्रिय समर्थन प्रदान करने का मिशन शामिल है।

Ambedkar udyog Uday Yojana
Ambedkar udyog Uday Yojana

Ambedkar udyog Uday Yojana

केवल एक बिस्तर विविधीकरण सहायता के लिए पत्र होगा।

केवल एक आधुनिकरण सहायता के लिए पत्र होगा।

सावधि ऋण के लिए इस योजना के तहत प्रोत्साहन के लिए केवल वास्तव में विपरीत राशि पर विचार किया जाएगा इसके अलावा जो ऋण पुरानी संपत्तियों पर विश्वास स्वीकृत या विपरीत किए गए हैं। वह इस योजना के तहत प्रोत्साहन के लिए पत्र नहीं होगा।

केवल आरबीआई निर्देश के अनुसार बैंकों या वित्तीय संस्थाओं द्वारा स्वीकृत ऋण ही इस संकल्प के तहत किसी भी प्रोत्साहन के लिए पत्र होगा।गैर बैंकिंग वित्त संस्था स्वीकार्य नहीं है।

यदि किसी उद्यम ने इस योजना के तहत मदद प्राप्त की है। तो वह राज्य सरकार की किसी अन्य योजना के तहत लाभ प्राप्त करने का हकदार नहीं होगा जब तक कि उसे योजना के तहत अन्यथा निर्दिष्ट ना किया गया हो।

Ambedkar udyog Uday Yojana के तहत सहायता के लिए गुजरात राज्य में किए गए निवेश को एमएसएमई की स्थिति तय करने के लिए जोड़ा जाएगा।

उद्यम को जीपीसीबी या समकक्ष पदाधिकारी द्वारा निर्धारित प्रदूषण नियंत्रण उपायों का पालन करना होगा।

यदि उद्यम नगर निगम के क्षेत्र में स्थित है तो व्यवसाय करने के लिए उद्यम को नगर निगम के एनओसी प्राप्त करनी होगी।

अनुलग्नक – एक में सूचीबद्ध सेवा क्षेत्र के केवल नए एमएसएमई रुपए की अधिकतम राशि के साथ 6% की दर से ब्याज सब्सिडी के लिए पत्र होगा राज्य में कहीं भी मशीनरी और उपकरण के सावधि रन पर 5 वर्षों के लिए 25 लाख प्रतिवर्ष।

उद्यम को कल रोजगार का काम से कम 85% और स्थानीय व्यक्तियों को 50% पर्यावेक्षी और प्रबंधन की कर्मचारियों को नियुक्त करना होगा।

इंटरप्राइजेज को यह पुष्टि करने के लिए उपक्रम देना होगा कि उसने अधिकृत हस्ताक्षर करता द्वारा हस्ताक्षरित अपने लेटर हाथ पर सभी सरकारी बकाया का भुगतान कर दिया गया है।

फ्री सोलर चूल्हा योजना 2024। फ्री सोलर चूल्हा 100% सब्सिडी के साथ

Ambedkar udyog Uday Yojana मैं ब्याज सब्सिडी के लिए शर्तें

उद्यम को ऋण के प्रथम संवितरण की तारीख से एक वर्ष के भीतर या वाणिज्य उत्पादन शुरू होने की तारीख से पहले जो भी बाद में हो संबंधित डीआईसी को आवेदन करना होगा।

उद्यम को ब्याज सब्सिडी की पात्रता की तारीख या तो ऋण के पहले संवितरण की तारीख से या वाणिज्य उत्पादन शुरू होने की तारीख से चुन्नी होगी।

देर से आवेदन जमा करने पर वाणिज्यिक उत्पादन के बाद देर से जमा करने की अवधि में कटौती और अधिकतम सीमा से ब्याज सब्सिडी की अनुपातिक राशि की कटौती के अधीन विचार किया जाएगा।

ब्याज सब्सिडी की प्रतिपूर्ति उद्यम के वाणिज्यिक उत्पादन शुरू होने के बाद ही की जाएगी।

उद्यम को वाणिज्यिक उत्पाद की तिथि से 5 वर्ष तक उत्पादन में रहना होगा।

किसी भी मामले में ब्याज सब्सिडी के कुल मात्रा बैंक/ वित्तीय संस्था को भुगतान किए गए कल ब्याज से अधिक नहीं होगी।

Ambedkar udyog Uday Yojana मैं दिए जाने वाली सब्सिडी

नगर निगम क्षेत्र 60% की ब्याज सब्सिडी अधिकतम राशि 5 वर्ष की अवधि के लिए 25 लाख प्रति वर्ष

नगर निगम क्षेत्र से बाहर 8% की ब्याज सब्सिडी अधिकतम राशि 5 वर्ष की अवधि के लिए 30 लख रुपए प्रति वर्ष।

ऋण स्वीकृत होने की तिथि पर 35 वर्ष से कम आयु के युवा उद्योगों को एक परसेंट अतिरिक्त ब्याज सब्सिडी।

किसी उद्यम के लिए ब्याज सब्सिडी की अधिकतम दर 9% और 7% से अधिक नहीं होगी जहां ब्याज सब्सिडी की दर क्रमश 8% और 6% है।

Leave a Comment