RBI New Update: 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को फिर से चलाने की घोषणा! जानें सच्चाई

RBI New Update: 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को फिर से चलाने की घोषणा! जानें सच्चाई

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने एक नया अपडेट जारी किया है, जिसके अनुसार 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को फिर से चलाया जाएगा। इस खबर के प्रमुख बिंदुओं को जानने के लिए पूरा लेख पढ़ें।

नोटबंदी के बाद अपडेट की घोषणा

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने देशभर में हुई नोटबंदी के बाद 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को लेकर एक नया अपडेट जारी किया है। यदि आपने नोटबंदी के समय 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को नहीं बदला था, तो आपके पास इसके लिए एक और मौका है। आरबीआई द्वारा जारी इस बड़ी जानकारी के अनुसार सरकार ने इस मुद्दे पर कार्रवाई की है।

सच्चाई की जांच की गई

इस विषय पर प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो (PIB Fact Check) ने गंभीरता के साथ जांच की है और इसकी सच्चाई सामने लाई है। जब इस पोस्ट की जांच की गई, तो PIB Fact Check ने बताया है कि इस वायरल पोस्ट में की गई दावा झूठा है। ऐसा दावा किया गया था कि आरबीआई ने विदेशी नागरिकों के लिए भारतीय डिमॉनेटाइज्ड करेंसी नोटों की एक्सचेंज करने की सुविधा को बढ़ाया है।

Conclusion:

इस प्रकार, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने अपने नवीनतम अपडेट के माध्यम से घोषणा की है कि 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को फिर से चलाया जाएगा। हालांकि, यह दावा झूठा साबित हुआ है और विदेशी नागरिकों के लिए नोटों की एक्सचेंज करने की सुविधा को बढ़ाने का कोई आदेश नहीं जारी किया गया है। इसलिए, सभी लोगों को इस अफवाह पर ध्यान न देकर असली जानकारी के स्रोतों पर भरोसा करना चाहिए।

अक्सर पूछे जाने प्र्शन (FAQs)

प्रश्न 1: क्या आरबीआई ने 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को फिर से चलाने की घोषणा की है?

उत्तर: हां, आरबीआई ने यह घोषणा की है कि 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को फिर से चलाया जाएगा।

प्रश्न 2: क्या नोटबंदी के बाद इस अपडेट की घोषणा की गई है?

उत्तर: हां, यह अपडेट नोटबंदी के बाद घोषित की गई है।

प्रश्न 3: क्या यह सच्चाई है कि विदेशी नागरिकों के लिए नोटों की एक्सचेंज करने की सुविधा बढ़ाई गई है?

उत्तर: नहीं, यह दावा झूठा है। विदेशी नागरिकों के लिए नोटों की एक्सचेंज करने की सुविधा बढ़ाने का कोई आदेश जारी नहीं किया गया है।

प्रश्न 4: किसने इस अफवाह की जांच की है?

उत्तर: प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो (PIB Fact Check) ने इस अफवाह की जांच की है।

प्रश्न 5: क्या हमें इस अफवाह पर ध्यान देना चाहिए?

उत्तर: नहीं, हमें इस अफवाह पर ध्यान नहीं देना चाहिए। यह अफवाह झूठी है और हमें असली जानकारी के स्रोतों पर भरोसा करना चाहिए।

Leave a Comment