बबूल की छाल एक औषधीय पौधा है जिसका उपयोग प्राचीन काल से कई बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता रहा है - Aryan Digital

बबूल की छाल एक औषधीय पौधा है जिसका उपयोग प्राचीन काल से कई बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता रहा है

बबूल की छाल में कई पोषक तत्व होते हैं जिनमें शामिल हैं

टैनिन एक प्राकृतिक एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीमाइक्रोबियल एजेंट है

एंथोसायनिन एक प्रकार का एंटीऑक्सीडेंट है जो मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से बचाता है

फाइटोस्टेरॉल रक्त में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद कर सकते हैं

बबूल की छाल में टैनिन होता है जो दस्त को रोकने में मदद कर सकता है।

बबूल की छाल में एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं जो खांसी को कम करने में मदद कर सकते हैं

बबूल की छाल में एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं जो मुंह के छालों को ठीक करने में मदद कर सकते हैं

बबूल की छाल में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो दांतों में दर्द को कम करने में मदद कर सकते हैं